तू मत डर, बस प्यार कर

September 23, 2016 Surabhi Pandey 5

माना मैं थोड़ी खुले मिजाज़ की हूँ आज़ाद ख़यालों की हूँ, बेबाक जज़्बात हैं मेरे लेकिन ए दोस्त, मैं बेवफा नहीं माना मुझे हसना बोलना पसंद है माना मैं थोड़ी

Advertisements

PINK IS THE NEW WHITE. IT IS PEACE. SOLACE.

September 19, 2016 Surabhi Pandey 7

Not that Mr. Bachchan needs to establish anything about his extraordinary acting skills but through PINK he has definitely done it for the trillionth time . He re-establishes the fact ki

मैं हूँ

September 16, 2016 Surabhi Pandey 5

जिस तरह चाहती हूँ उस तरह नहीं लेकिन हाँ, मैं हूँ मैं उसकी राहत हूँ, मैं उसकी चाहत हूँ जिस तरह सोचती हूँ उस तरह नहीं लेकिन हाँ, मैं हूँ

मैं दंग हूँ

September 12, 2016 Surabhi Pandey 4

मैं दंग हूँ लोगों के बचपने पे उनकी बेवकूफियों पे मैं दंग हूँ कोई उम्र में छोटा है तो उसको कुछ भी बोल दो कोई काम पे नया है तो

थोड़ा सा, जी भर के जी लेता हूँ

September 2, 2016 Surabhi Pandey 3

ऑटो में मेट्रो में बाइक की सवारी पर थोड़ा सा, जी भर के सो लेता हूँ तकलीफों को मुश्किलों को दर्द को सोच के, थोड़ा सा, जी भर के रो

कश्मकश

September 1, 2016 Surabhi Pandey 4

कश्मकश में जी रही क्या ग़लत क्या सही कुछ पता नहीं कुछ अता नहीं कहना कुछ चाहती हूँ करना कुछ और हो कुछ जाता है आता समझ कुछ और अपने दिल